प्रकृति का चमत्कार-ग्रैंड कैन्यन

उत्तरी एरिज़ोना में स्थित ग्रैंड कैन्यन संयुक्त राज्य अमेरिका में पर्यटकों का सर्वाधिक आकर्षण का केंद्र है। विशाल भाग में अनेक अलग-अलग खंड हैं। ग्रैंड कैन्यन नेशनल पार्क इस का सबसे बड़ा खंड है। ग्रैंड कैन्यन सदृश चामत्कारिक, मुग्धकारी दृश्यावली पृथ्वी पर संभवतः कहीं अन्यत्र दिखाई न दे। इसका सौंदर्य वर्णातीत है। शब्दों अथवा चित्रों की परिधि में बांध पाना दुरूह ही नहीं दुस्साहस भी होगा। दर्शक इसे देख कर चित्रलिखित से रह जाते हैं। उनको अपनी आँखों पर विश्वास नहीं होता, बार-बार आँखें मलते हैं, बारबार प्रकृति के इस अजूबे को निहारते हैं। अनन्तकाल से बह रही कोलेरेडो नदी के वेग से कोलेरेडो के रेतीले, बंजर पठार में डेढ़ कि.मी गहरी सर्पीली, बलखाती दरारें डाल दी हैं।

यद्यपि ग्रैंड कैन्यन विश्व की सबसे गहरी घाटी नहीं है तथापि अपने आकार और चित्ताकर्षक परिदृश्य के कारण सम्पूर्ण विश्व के पर्यटकों के विशिष्ट आकर्षण का केंद्र है। प्रकृति के इस अनन्तकालीन चामत्कारिक सौंदर्य की अनुभूति सर्वप्रथम अमेरिका के राष्ट्रपति थियोडोर रूज़वेल्ट ने की थी। 1903 ई में वे यहाँ पर भ्रमणार्थ आए थे। वे यहाँ के प्राकृतिक सौंदर्य को देख कर मंत्रमुग्ध रह गए थे। उसके बाद भी उन्होने यहाँ की कई बार यात्रा की। उस समय कुछ व्यवसायी इस क्षेत्र को पर्यटन स्थल के दृष्टिकोण से रेलमार्ग से जोड़ने तथा कैन्यन के दोनों किनारों पर होटल निर्माण की योजना बना रहे थे। राष्ट्रपति रूज़वेल्ट यह देख कर चिंतित हो गए। 1908 ई में उन्होने प्रकृति की इस अमूल्य धरोहर को ‘एंटिक्विटी एक्ट’ के अंतर्गत राष्ट्रीय स्मारक घोषित कर दिया।

इस घोषणा से नाराज़ हो कर स्थानीय व्यवसायी रेल्फ कैमरून ने फेडरल गवर्नमेंट पर मुक़द्दमा दायर कर दिया। लम्बी लड़ाई के बाद 1920 ई में सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति रूज़वेल्ट के निर्णय को वैधता प्रदान कर दी। राष्ट्रपति रूज़वेल्ट के निर्णय के फलस्वरूप न केवल अमेरिका के अपितु सम्पूर्ण विश्व के पर्यटक ग्रैंड कैन्यन के मुग्धकारी सौंदर्य का आनंद ले रहे हैं तथा भविष्य में भी लेते रहेंगे।1979 ई में यूनेस्को की विश्व विरासत समिति ने इसको विश्व विरासत के रूप में मान्यता प्रदान कर दी।

इतिहास-

ग्रैंड कैन्यन से पृथ्वी के अनंतकालीन भूगर्भीय इतिहास का पता चलता है। 277 मील लम्बी,18 मील चौड़ी और 6,093 फीट से अधिक गहरी घाटी की दीवार की चट्टानें पृथ्वी के इतिहास की एक समयरेखा बताती हैं। इसकी गठन प्रक्रिया 70 मिलियन साल पहले आरंभ होने की संभावना है लेकिन प्रमुख भाग लगभग छह मिलियन साल पहले आकार लेने लगे थे।

ग्रैंड कैन्यन-

ग्रैंड कैन्यन दो प्रमुख खंडों में विभाजित है-1-दूरस्थ उत्तरी रिम, 2- अधिक सुलभ दक्षिणी रिम। घाटी का छोटा दक्षिण-पश्चिमी भाग दो भागों में अवस्थित है-हवापाई और वलापायी। घाटी के प्रत्येक क्षेत्र का अपना विशिष्ट आकर्षण है तथा आगंतुक के मनोरंजन के लिए विभिन्न साधन हैं। पार्क में एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए दो विकल्प हैं-पैदल अथवा कार( बस)। 34 कि.मी दो लम्बी पगडंडियाँ पार्क के दोनों भाग-उत्तरी रिम तथा दक्षिणी रिम को कोलेरेडो नदी के ऊपर निर्मित ‘काइबा सस्पेंशन ब्रिज’ जोड़ता है। दक्षिणी रिम उत्तरी रिम से 354 कि. मी दूर है। कार से यात्रा करने में पाँच घंटे लग जाते हैं। लैंडस्केप, जलवायु तथा वनस्पति के दृष्टिकोण से उत्तरी और दक्षिणी रिम सर्वथा पृथक हैं। एक पार्क में दो पार्क की तरह हैं। एक ही दिन में घाटी के दोनों किनारों की यात्रा करना असंभव है।

दक्षिणी रिम-

ग्रैंड कैन्यन राष्ट्रीय उद्यान पहली बार जाने पर दक्षिणी रिम से अपनी यात्रा आरंभ करनी चाहिए। यह अधिक सुविधाजनक व आनंदप्रद है। दक्षिणी रिम पूरा साल ,24 घंटे खुला रहता है। आगंतुकों के लिए शिविर, होटल, रेस्तरां आदि की सभी सेवाएँ पूरा साल उपलब्ध रहती हैं। यहाँ स्थित ग्रैंड कैन्यन विलेज संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रीय ऐतिहासिक स्थलों की सूची में सम्मिलित है।

यह गाँव पूरी तरह से पर्यटकों की सेवा पर केन्द्रित है। इस गाँव से रेलवे घाटी तक रास्ता जाता है। 1901ई में विलियम्स शहर से दक्षिणी रिम तक रेलवे के निर्माण के लिए बसाया गया था यह गाँव। गाँव में अनेक ऐतिहासिक इमारतें हैं । इसका ऐतिहासिक केंद्र अमेरिका के राष्ट्रीय ऐतिहासिक स्थलों की सूची में सम्मिलित है।

विजिटर सेंटर-

विजिटर सेंटर से ग्रैंड कैन्यन के किनारों की यात्रा, विशिष्ट दर्शनीय स्थलों की जानकारी, नीचे जाने के लिए अनुभवी गाइड के साथ कोलेरेडो नदी में राफ्टिंग संबंधी विस्तृत जान कारी प्राप्त की जा सकती है। विजिटर सेंटर तथा अन्य विशिष्ट स्थानों पर तैनात वन अधिकारी मानव विकास के इतिहास, वनस्पतियों , फूलपौधों, वन्यप्राणियों एवं भूगर्भ के बारे में रोचक जानकारी प्रदान करते हैं।

लुक आउट स्टुडियो-

Lookout Studio, Grand Canyon

1914 ई में पर्यावरण संरक्षण को ध्यान में रख कर वास्तुकार कोल्टर के डिजाइन के अनुरूप लुक आउट स्टुडियो के निर्माण में स्थानीय चट्टानों का उपयोग किया गया था। यह इमारत अमेरिकी राष्ट्रीय ऐतिहासिक स्थलों के रजिस्टर में सूचीबद्ध है। यहाँ से घाटी की मनमोहक दृश्यावली दिखाई देती है। घाटी की देखरेख के लिए बाहरी छत पर दूरबीनें लगी हैं। घाटी से संबद्ध पुस्तकों की प्रदर्शनी और स्मारिका की एक दुकान है।

19वीं सदी के अंत में सभी मूल आदिवासी जन- जातियाँ विलुप्ति के कगार पर थीं। उस समय अमेरिकियों के विचार में निकट भविष्य में सभी मूल आदिवासियों की बीमारी और सफ़ेद लोगों के संपर्क में आने के कारण पूरी तरह से विलुप्त हो जाने की संभावना थी। कुछ यात्रा कंपनियों ने विशेष रूप से दक्षिण-पश्चिम के यात्रियों को इन विलुप्त हो रहे आदिवासियों की जीवनशैली से परिचित करवाने की योजना बनाई। 19वीं शताब्दी के मानकों के अनुसार ‘होपी’ जन जातियों को सभ्य माना जाता था क्योंकि वे पत्थरों के घरों में स्थायी रूप से रहते थे। घर विशिष्ट स्थापत्य शैली के आधार पर निर्मित तथा शांतिपूर्ण थे। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए सांता फे रेल रोड ने दक्षिण रिम पर एक ‘होपी हाउस’ बनाया। आर्किटेक्ट कोल्टर ने पारंपरिक प्युब्लो स्थापत्य शैली में इसका निर्माण करवाया था। यहाँ पर आगंतुक होपी कारीगरों के शिल्प को देख सकते थे, उनका बनाया हुआ सामान खरीद सकते थे। वर्तमान में इसके भीतर दुकानें, प्रदर्शनी और एक संग्रहालय है।

मार्केट प्लाज़ा-

यह ग्रैंड कैन्यन का शॉपिंग सेंटर है। यहाँ पर सुपरमार्केट, अन्य दुकानें, एक बैंक, एक पोस्टऑफिस और एक कैफे है। मार्केट प्लाज़ा में एक बड़ी कार पार्किंग भी है। किराने की दुकानें, डिपार्टमेंटल स्टोरों की पूरी शृंखला, कपड़े, स्मृति चिन्ह, कैंपिंग के लिए और घाटी में लम्बी यात्रा के लिए आवश्यक सभी सामान किराए पर उपलब्ध है। पूरा साल, प्रतिदिन सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक खुला रहता है। खुलने का अतिरिक्त समय मौसम के अनुसार बदलता रहता है।

यावपय संग्रहालय भूविज्ञान-

मार्केट प्लाज़ा से 1.6 कि.मी दूर है यावापय भूविज्ञान संग्रहालय में थ्री डी मॉडलों, चित्रों , वृत्तचित्रों के माध्यम से ग्रैंड कैन्यन के जटिल भूगर्भीय इतिहास के बारे में जानकारी प्रदान की जाती है। प्रदर्शनियों द्वारा रॉक लेयर्स की गठन प्रक्रिया तथा कोलेरेडो पठार को ऊपर उठाने तथा ग्रैंड कैन्यन को तराशने की प्रक्रिया समझायी जाती है। संग्रहालय स्मृति चिन्हों के लिए सुंदर स्थान है। यावापय संग्रहालय के समीप ही भूविज्ञान का यावपई पायण्ट पर्यवेक्षण डेक है।

ग्रैंड कैन्यन ट्रेन स्टेशन-

लकड़ी से निर्मित यह ऐतिहासिक रेलवे स्टेशन ग्रैंड कैन्यन विलेज के केंद्र में स्थित है। 1909-1910 ई के मध्य सांता फे कंपनी ने इसका निर्माण करवाया था। यह संयुक्त राज्य अमेरिका में लकड़ी से निर्मित तीन स्टेशनों में से एक है। स्टेशन एल टावर होटल के सामने घाटी के किनारे से केवल 100 मीटर की दूरी पर है। 100 से अधिक सालों से यह पर्यटकों के आगमन और प्रस्थान के लिए प्रारम्भिक बिन्दु के रूप में काम कर रहा है। स्टेशन संयुक्त राज्य अमेरिका के ऐतिहासिक स्मारकों के रजिस्टर में सूचीबद्ध है।

आकर्षण के अन्य प्रमुख स्थल हैं- ‘कुप्पी स्टूडियो'( कोलब स्टुडियो); ‘बकी ओ’नील हाउस’; ‘माथर प्वायंट’।

दक्षिणी रिम लुक आउट-हर्मिट्स रेस्ट रोड-

दक्षिणी रिम के अवलोकन केंद्र दो प्रमुख सड़कों पर स्थित हैं। हर्मिट्स रेस्ट रोड और डेज़र्ट व्यू ड्राइव। हर्मिट्स रेस्ट रोड ‘वेस्ट ड्राइव रिम’ के नाम से भी जानी जाती है। यह हर्मिट्स रेस्ट टर्मिनस के ग्रैंड कैन्यन सूचना केंद्र के समीप स्थित हर्मिट्स रेस्ट ट्रांसफर स्टॉप से 11 कि.मी लम्बा मार्ग है। घाटी के किनारे नौ अवलोकन स्थल हैं। यह मार्ग अत्यधिक लोकप्रिय है। इस पर राष्ट्रीय पार्क की निःशुल्क बसें तथा वाणिज्यिकी बसें चलती हैं। घाटी के किनारे, हर्मिट रेस्ट रोड ने पैदल चलने वालों और साइकिल चालकों के लिए समानान्तर 12.6 कि.मी रास्ता तैयार किया है। यहाँ पर स्वतंत्र रूप से यात्रा तथा भिन्न स्थलों से चित्ताकर्षक दृश्यावली देखी जा सकती है।

मारीकोपा प्वायंट से पुरातन खदानों के पुरातत्त्वशेष तथा 1893 ई में ताँबे, चांदी और वेनेडियम की खदानें और 1956 ई से 1969 ई तक यहाँ की संयुक्त राज्य में यूरेनियम की सबसे बड़ी खदान देखी जा सकती है। उस समय यह खदान पूरे अमेरिका में यूरेनियम का सबसे समृद्ध स्रोत था।

होपी प्वायंट के अवलोकन स्थल से सूर्यास्त और सूर्योदय का मनोहारी दृश्य दिखाई देता है। यहाँ से पश्चिम में कोलेरेडों नदी की सुंदर दृश्यावली दिखाई देती है। इनके अतिरिक्त मोज़ावे प्वायंट,हर्मिट रेस्ट अन्य अवलोकन मंच है।

डेज़र्ट व्यू ड्राइव रोड-

डेज़र्ट व्यू ड्राइव 42 कि.मी लम्बी है। यह ईस्ट रिम ड्राइव के नाम से भी जानी जाती है। यह ग्रैंड कैन्यन विलेज से ले कर डेज़र्ट व्यू वाच टावर और राष्ट्रीय उद्यान के पूर्वी प्रवेश द्वार तक विस्तीर्ण है। डेज़र्ट व्यू वाच टावर से अनेक अवलोकन स्थलों तक सड़क जाती है। प्रमुख हैं-मोरन प्वायंट । यहाँ अवलोकन डेक पर जाने के लिए छोटी साइड रोड है। इस का नाम लैंडस्केप चित्रकार थॉमस मोरन के नाम पर रखा गया था। उन्होने 1873 ई में कोलेरेडो नदी के किनारे एक वैज्ञानिक अभियान में भाग लिया था तथा घाटी को लोकप्रिय बनाने में सहायता की। फलस्वरूप 1908 ई में राष्ट्रीय स्मारक तथा 1919 ई में राष्ट्रीय उद्यान की स्थापना हुई। 1873 ई में मोरन द्वारा बनाई गयी ग्रैंड कैन्यन की एक पेंटिंग अमेरिकी कांग्रेस की दीवार पर लटकी हुई है।

तुसयान खंडहर-

तुसयान खंडहरों में छिपा है ग्रांड कैन्यन का लम्बा मानव इतिहास। इन खंडहरों और समीपस्थ संग्रहालय में 800 साल पहले प्युबलो इंडियंस की जीवनशैली, सभ्यता, संस्कृति का चित्रण देखने को मिलता है। यह डेज़र्ट व्यू टावर से 5 कि. मी पश्चिम में स्थित है। यहाँ से पार्क के वन अधिकारियों के साथ खंडहर और संग्रहालय का भ्रमण करने की सुविधा उपलब्ध है।

डेज़र्ट व्यू वाच टावर-

प्रसिद्ध वास्तुकार मैरी काल्टर ने इसको प्रागैतिहासिक अमेरिकी टावर के मूल डिजाइन केअनुरूप निर्मित करवाया था। 1932 ई में निर्मित चार मंज़िला 21 मीटर ऊंचा टावर दक्षिणी रिम का सर्वोच्च शिखिर है। टावर की निचली मंज़िल पर स्मृति चिन्हों की दुकान और कैफ़े है। ऊपरी मंज़िलों से कोलेरेडो नदी की सुंदर दृश्यावली दिखाई देती है। टावर की भीतरी दीवारों को कलाकार फ्रेड काबोती ने सुंदर भित्तिचित्रों से सजाया है। 28 मई, 1987 से टावर यू.एस राष्ट्रीय ऐतिहासिक स्थलों की सूची में सम्मिलित है।

उत्तरी रिम-

ग्रैंड कैन्यन के उत्तरी रिम की यात्रा कठिन एवं दुरूह है । पूर्ण रूप से स्वस्थ एवं अभ्यस्त पर्यटक ही इस यात्रा का आनन्द ले पाते हैं। उत्तरी किनारे की वादियों में बसे छिटपुट आदिवासियों के रोचक एवं मनोरंजक किस्से सुन कर मन खुश हो जाता है। यहाँ का सर्वाधिक लोकप्रिय प्वायंट ‘ब्राइट एंजल प्वायंट’ है। इसकी लोकप्रियता का कारण है समीपस्थ ग्रैंड कैन्यन लॉज काटेज़ और उत्तरी रिम विजिटर सेंटर है।

देवदार वृक्षों के सघन जंगलों में बनी प्राकृतिक पगडंडियों पर चलते हुए यहाँ के मुग्धकारी दृश्य को आत्मसात किया जा सकता है। किनारे के किसी समतल स्थान से नीचे झाँकने पर मिस्र के पिरामिड, एज़टेक मंदिर सदृश अनेक भव्य गुंबद व आकृतियाँ दिखाई देती हैं

फ़ैन्टम रेंच-

कोलेरेडो नदी के उत्तर में दो नदियों के संगम पर फैन्टम क्रीक और ब्राइट एंजल क्रीक के समीप एक छोटा सा गाँव फैन्टम रेंच स्थित है। ग्रैंड कैन्यन के कारण इस की लोकप्रियता में भी निरंतर वृद्धि हो रही है। अमेरिका के राष्ट्रीय उद्यानों में फैन्टम रेंच सर्वाधिक लोकप्रिय स्थान है। इसके कमरों को प्रायः एक साल पहले बुक कर लिया जाता है।

फैन्टम रेंच में काटेज़,पुरुषों ,महिलाओं के लिए दो डोरमीटरी, एक रेस्तरां, एक आपातकालीन कक्ष, एक रेंजर स्टेशन,एक कैम्प ग्राउंड तथा कोलेरेडो नदी में राफ्टिंग पर्यटन में भाग लेने वालों के लिए एक समुद्र तट है । मकान स्थानीय पत्थरों तथा लकड़ी से निर्मित हैं। उद्यानों के बीच खेत तक पगडंडियों पर पैदल चल कर अथवा खच्चरों पर बैठ कर पंहुचा जा सकता है।

सभ्यता-संस्कृति से परिचय-

ग्रैंड कैन्यन नेशनल पार्क में अनेक म्यूज़ियम व विजिटर सेंटर हैं । इनमें आडियो,वीडियो, चित्रों, पोस्टरों के माध्यम से ग्रैंड कैन्यन की उत्पत्ति, विकास, इतिहास, एवं भूगर्भीय विशेषताओं को अतीव सुंदर व रोचक ढंग से प्रस्तुत किया जाता है। यहाँ की ‘श्राइन ऑफ एजिस’ में पिछले पैंतीस साल से अगस्त-सितंबर के बीच संगीत समारोह आयोजित किया जाता है। इसमें विश्व प्रसिद्ध संगीतकार भाग लेते हैं।

मानसिक तथा शारीरिक रूप से स्वस्थ पर्यटक यहाँ पर पैदल यात्रा का आनंद ले सकते हैं। टेढ़े-मेढ़े, ऊबड़-खाबड़ रास्तों और गर्मी के कारण यात्रा में कठिनाई अवश्य होती है। कठिन होने पर भी पैदल चलते हुए नीचे की मुग्धकारी दृश्यावली देखने का अपना अलग आनंद और रोमांच है।

यात्रा से लौटते समय ग्रैंड कैन्यन के दक्षिणी रिम पर स्थित वरकैम्प स्टोर अवश्य जाएँ। 1906 ई में वरकैम्प ने पर्यटकों के लिए यह स्टोर खोला था। आज भी यह स्टोर पर्यटकों की सेवा कर रहा है। यहाँ पर आदिवासियों द्वारा तैयार क्या गया हस्तशिल्प का सामान

और स्मृति चिन्ह मिलते हैं।

विशेष-कैसे जाएँ?

एरिज़ोना की राजधानी फोएनिक्स सम्पूर्ण विश्व के साथ हवाई मार्ग से जुड़ी है। फोएनिक्स के अंतर्राष्ट्रीय एयर पोर्ट पर उतरने के बाद राष्ट्रीय विमान सेवा अथवा कार/ टैक्सी से ग्रैंड कैन्यन पंहुच सकते हैं। राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा सुविधाजनक बनाने के लिए अपनी कार/टैक्सी कारपार्क में छोड़ दें तथा निःशुल्क बस सेवा का उपयोग करें। पार्क के प्रवेश द्वार पर निःशुल्क समाचार पत्र गाइड लें। इसमें सभी कार पार्कों का नक्शा रहता है।

कब जाएँ?

मई से सितंबर के मध्य पर्यटकों की भीड़ रहती है। आराम से घूमने-फिरने के लिए संभव हो तो यह समय न चुनें।

क्या ले जाएँ?

बढ़िया मजबूत जूते,हैट, धूप का चश्मा,दूरबीन, फ्लैशलाइट तथा मौसम के अनुरूप कपड़े ले जाएँ।

ग्रैंड कैन्यन की यात्रा की योजना बनाने से पहले ठहरने, भोजन व अन्य जानकारी के लिए पार्क की वेब साइट पर संपर्क कर सकते हैं।

==================================

प्रमीला गुप्ता

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.